Vitamins in Hindi | तरल विटामिन: कितना मिथक, कितना सच

5/5 - (1 vote)

Vitamins : मानव शरीर के लिए कई तरह के पोषक तत्व, खनिज, लवण आदि आवश्यक होते हैं। प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, वसा, विटामिन और बहुत कुछ। हमें ये सारे पोषक तत्व अपने रोजाना के भोजन में, सब्जियों, फलों तथा अनाज के माध्यम से मिलते हैं। इसके अलावा मेडिकल साइंस की बदौलत कई सारे सप्लीमेंट्स भी उपलब्ध हैं जो इन तत्वों की पूर्ति करते हैं।

यह भी पढ़े : विटामिन D के फायदे

विटामिन के प्रकार और महत्व

विटामिन के जितने प्रकार होते हैं, उनकी हमारे शरीर में उपयोगिता भी उतनी ही होती है। उदाहरण के लिए विटामिन ए आंखों के लिए, विटामिन बी पाचन तंत्र के लिए, विटामिन सी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए, विटामिन डी हड्डियों के लिए, विटामिन ई मांसपेशियों के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। ( Vitamins )

Vitamins in Hindi | तरल विटामिन

क्या है तरल विटामिन: बाजार में आने वाले विटामिन अधिकतर टैबलेट्स के रूप में मिलते हैं। किंतु इनकी सीरप और ड्रॉप्स के रूप में भी उपलब्धता है। आजकल यह बहस छिड़ी है कि तरल रूप में मिलने वाले विटामिन अधिक लाभदायक होते हैं या टैबलेट्स वाले। ( Vitamins )

क्या है ये बहस और क्यों

तरल और टैबलेट विटामिन सप्लीमेंट के बारे में बहस दरअसल ये है की दोनों में अधिक जल्दी अधिक असरदार कौन सा होता है। और इस बहस का आधार है वह तरीका जिससे ये विटामिन शरीर द्वारा ग्रहण तथा इस्तेमाल किए जाते हैं। विटामिन को शरीर में जल्दी अवशोषण होने के लिए ये आवश्यक है की वह साधारणतम (simplest form) रूप में हो। ( Vitamins )

टैबलेट वाले विटामिन सप्लीमेंट्स को अवशोषित करने से पहले शरीर के एंजाइम को उसे तोड़ने और घुलने में बहुत अधिक शक्ति लगानी पड़ती है। यही नहीं, जिन विटामिन गोलियों के ऊपर शुगर की परत भी विटामिन को सही तरीके से शरीर में जाने में बढ़ा बनती है।

विटामिन के अपने प्रकार पर भी निर्भर है ये प्रक्रिया

विटामिन शरीर में घुल के असर दिखाते हैं लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि हर विटामिन को घुलने के लिए एक ही प्रकार की परिस्थिति नहीं चाहिए?

दो प्रकार से घुलते हैं विटामिन ( Vitamins )

विटामिन दो प्रकार से घुलने वाले होते हैं:

  1. पानी में
  2. वसा में

विटामिन सी तथा विटामिन बी पानी में घुलने वाले होते हैं। इनका टैबलेट रूप शरीर में मौजूद पानी में जल्दी घुल जाता है। विटामिन ए तथा विटामिन ई वसा में घुलते हैं इनको शरीर में टूटने तथा घुलने में अधिक समय लगता है।

शोध के परिणाम

तरल तथा टैबलेट विटामिन के बीच यह प्रतिस्पर्धा एक शोध के साथ पुष्ट होती है। शरीर के अंदर की परिस्थितियों को कृत्रिम रूप से पैदा करके पाचन में लगने वाला पर्याप्त समय दे कर एक शोध किया गया। जिसमे यह पाया गया की तरल विटामिन सरल रूप में होने के कारण अधिक जल्दी और सकारात्मक रूप से अवशोषित होते हैं, जबकि टैबलेट वाले विटामिन अधिक समय लेते हैं और सही से उनका उपयोग भी नहीं हो पाता।

अंत में, यह भी बात महत्वपूर्ण है की हमें यह प्रयास करना चाहिए की पोशाक तत्वों की जरूरत खान पान से ही पूरी हो जाए। इस प्रकार से ग्रहण किए गए तत्व शरीर में अवशोषित होने की प्रक्रिया अधिक जटिल नहीं होती। सप्लीमेंट कृत्रिम होते हैं, साथ ही हर प्रकार के कृत्रिम उत्पाद हर किसी को साधते भी नहीं। अतः, सोच विचार कर इनका इस्तेमाल करें।

प्रिय पाठकों, आशा करती हूं आपको मेरा लेख उपयोगी लगा। आपके सुझाव और सराहना हमें प्रेरित करते हैं। अतः कमेंट्स अवश्य करें। और सबसे महत्वपूर्ण बात की डॉक्टर की सलाह से ही स्वास्थ्य संबंधी कोई भी फैसला लें। धन्यवाद।

अस्वीकरण :- इस site पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है | यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए | उपचार के लिए योग्य चिकित्सक का सलाह ले |

Leave a Comment