Weight loss in Hindi | वजन घटाने के 7 प्राकृतिक तरीके

5/5 - (1 vote)

Weight loss : आए दिन हम पत्रिकाओं, अखबारों तथा सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर जीवन शैली सुधारने और वजन नियंत्रण के कई सारे नुस्खे पढ़ते रहते हैं। हर कोई यह दावा करता है की उनके बताए तरीके सबसे अधिक असरदार हैं। कई लेख आपको अजीब तरह के डाइट प्लान तथा व्यायामों के बारे में बताते हैं।

जो अपनाने में बहुत ही कठिन होते हैं। कई कंपनियां वजन नियंत्रण की आड़ में हजारों रुपए खर्च करवा कर कई तरह के उत्पाद इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। इन सब के बीच हम मुश्किल में पड़ जाते हैं कि क्या किया जाए।

यह भी पढ़े : गठिया के हो सकते है ये लक्षण

अपने शरीर की परख | Weight loss in Hindi

आपको सबसे पहले अपने शरीर की वस्तुस्थिति की जानकारी होनी चाहिए। आपकी सेहत कैसी रहती है, किन चीजों से तकलीफ होती है, कितना शारीरिक श्रम झेल सकते हैं आदि। हर किसिस के लिए हर प्रकार का व्यायाम भी सही नहीं होता। बेहतर है कि अपने वजन, क्षमता और पसंद के हिसाब से अपने लिए लक्ष्य निर्धारित किया जाए।

सटीक जानकारी उपलब्ध है या नहीं ( Weight loss )

हर लेख पर विश्वास कर लेना भी खतरनाक हो सकता है। संभव है कि आप फायदे के बदले नुकसान उठा लें। हर दिए गए निर्देश का आंख बंद करके पालन न करें। सबसे आसान तथा घरेलू उपाय ही अपनाने पर जोर दें।

कुछ सरल उपाय वजन को सही तरीके से कम करने के ( Weight loss )

हम आम लोगों को अधिक अत्याधुनिक तकनीक की सहायता लेने की आवश्यकता नहीं होती। हम हमारे घरों में रह कर भी अपने स्वास्थ्य को सही रख सकते हैं। आइए जानें कि कैसे।

सात मुख्य बातें

वैसे तो तरीके बहुत से हैं, किंतु जो सरलतम हैं और जिनको व्यावहारिक रूप में अपनाने में आपको कठिनाई न आए, उनके बारे में ही बात करेंगे।

  1. पानी का भरपूर सेवन: पानी  शरीर के हर अंग को सुचारू ढंग से चलाने के लिए आवश्यक है। पाचन तंत्र, त्वचा आदि साफ रखने के अलावा पानी चर्बी को गलाने तथा वजन कम करने में सहायक होता है। खाना खाने के पहले पानी पीने से हम काम कैलोरी वाले पदार्थ खाने में रुचि दिखाते हैं। ( Weight loss )
  2. साबुत अनाज का सेवन: साबुत अनाज का सेवन आपको आवश्यक ऊर्जा देता है और साथ ही इसमें मौजूद फाइबर पाचन को सही रखता है। साबुत अनाज खाने से आपका पेट अधिक समय तक भरा हुआ रहता है। साबुत मूंग, दलिया आदि इस श्रेणी में आते हैं।
  3. अप्राकृतिक शुगर न लें:  गुड़ और शहद का सेवन स्वास्थ्य की दृष्टि से सर्वश्रेष्ठ है। रसायनिक चीनी या केक, मिठाई आदि में मौजूद चीनी सिर्फ नुकसान ही पहुचायेगी। ( Weight loss )
  4. प्रोटीन युक्त भोजन: प्रकीतिक रूप से प्रोटीन के स्रोत जैसे दाल, राजमा, अंडे आदि खाएं। इनसे पेट अधिक समय तक भरा रहता है और साथ ही आवश्यक पोषक तत्वों की पूर्ति होती है। बाजार में मिलने वाले कृत्रिम प्रोटीन उत्पादों से बचें।
  5. हरी सब्जियां: हरी सब्जियों में प्रचुर मात्रा में विटामिन, खनिज आदि मौजूद रहते हैं। इनका सेवन अनिवार्य है।
  6. फल खाएं, जूस से बचें: फलों का जूस पीने के बजाए इसे संपूर्ण रूप में खाना अधिक सेहतमंद है। जूस में सिर्फ ग्लूकोज होगा जबकि पूरे फल में फाइबर, विटामिन तथा खनिज भी पाए जाते हैं। ( Weight loss )
  7. व्यायाम: आपको हर दिन जिम में घंटों पसीना बहाने की आवश्यकता नहीं। हर रोज कम से कम आधे घण्टे तक का वर्कआउट ही काफ़ी है।

अन्य उपाय

इन सबके अलावा खाने की मात्रा नियंत्रित करें, सरसों तेल या घी में बना खाना खाएं। रिफाइंड तेल का सेवन कम से कमतर हो। मैदा आदि से बने उत्पाद, जंक फूड आदि से जितना हो सके बचे रहें। ( Weight loss )

यह भी रखें ध्यान

कम खाने का मतलब जरूरत से अधिक खाने में कटौती करना है, ना कि जरूरी खाने में। आपके शरीर को स्वस्थ और मजबूत रखना है और स्फूर्ति भी बनाए रखना है तो सही मात्रा में सभी पोषक तत्वों को लेना आवश्यक है। डाइटिंग का अर्थ सही डाइट लेना है, खाना त्याग देना नहीं। अपने लिए एक समय में बहुत अधिक बड़ा या कठिन लक्ष्य तय न करें। थोड़ा थोड़ा करके आगे बढ़ें। दूसरों की देखा देखी न करें। सुंदर, सुडौल शरीर हर कोई चाहता है। किंतु साथ ही स्वास्थ्य भी उतना ही महत्वपूर्ण है। इसे कभी नहीं भूलें।

प्रिय पाठकों, अंत में फिर से वही बात कहूंगी कि सही और जानकर व्यक्ति से सलाह ले कर और सही मार्गदर्शन में ही कुछ भी करें। आखिर आपके जीवन का सवाल है। और आपका स्वास्थ्य आपकी सबसे बड़ी पूंजी है। धन्यवाद।

अस्वीकरण :- इस site पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है | यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए | उपचार के लिए योग्य चिकित्सक का सलाह ले |

Leave a Comment